Tue. Oct 20th, 2020

स्वर्णिम भारत का आधार शाश्वत यौगिक खेती.. देश के सबसे बड़े प्रदेश उत्तरप्रदेश में इस समय प्रयागराज की धरनी में त्रिवेणी के संगमत तट पर भव्य दिव्य कुम्भ का आयोजन किया गया है। जिसके लगातार हम सारे अपडेट्स आपको दिखा रहे है, इस कुम्भ में किसानों के कल्याण के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने 16 दिवसीय विराट किसान मेले का आयोजन किया है।

इस मेले में प्रदेश के विभिन्न स्थानों से आए कृषि वैज्ञानिकों द्वारा.. किसानों को कम जगह कम लागत तथा कम समय में उत्तम फसल कैसे तैयार की जाए इन विषयों की जानकारी दी जा रही है। इस कड़ी में.. मेले में सराकर के आमंत्रण पर ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा शाश्वत यौगिक खेती पर कृषि सूचनातंत्र का सुदृढीकरण एवं कृषक जागरुकता कार्यक्रम का आयोजित किया गया है, जिसके दूसरे दिन.. मुख्य वक्ता के तौर पर आई संस्था के कृषि एवं ग्राम विकास प्रभाग की अध्यक्षा बीके सरला ने किसानों को भारतीय संस्कृति का परिचायक बताते हुए कहा कि किस तरह संकल्पों की शक्ति से कृषक अपनी कृषि को बेहतर बना सकता है…

इसी क्रम में प्रयागराज में संस्था की क्षेत्रीय संचालिका बीके मनोरमा ने ब्रह्माकुमारीज़ का सम्पूर्ण परिचय देते हुए संस्था द्वारा की जा रही सेवाओं की जानकारी दी।

इस सम्मेलन का उद्घाटन कृषि निदेशालय के सहायक निदेशक बद्री विशाल तिवारी, कृषि उप निदेशक विनोद कुमार, बीज विकास निगम के पूर्व प्रबन्ध निदेशक विनय प्रकाश श्रीवास्तव, बीके सरला, बीके मनोरमा, प्रयागराज के दारागंज सेवाकेन्द्र की प्रभारी बीके कमल समेत अन्य कई प्रतिष्ठित अतिथियों के द्वारा किया गया था.. जिसके पश्चात् सभी मुख्य महमानों ने किसानों की समस्याओं के हल के लिए अपने विचार रखे।

आपको बता दें.. कि इस विराट सम्मेलन से पूर्व ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा लगाए गए यौगिक खेती का स्टॉल का उद्घाटन उत्तर प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही द्वारा किया गया था.. जहां उन्हें ब्रह्माकुमारी बहनों द्वारा यौगिक खेती की सम्पूर्ण जानकारी दी गई, इस मौके पर उनके साथ कई अधिकारी भी मुख्य रुप से मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *