London, England

ब्रह्माकुमारीज संस्थान के लंदन में सेवाओं के पचास पूर्ण होने पर हर्षोल्लास से 50वीं सालगिरह मनायी गयी। इस दौरान करोना प्रोटोकॉल के कारण ग्लोबल कोआपरेशन हाउस में केवल हॉल में ढाइ सौ लोग ही उपस्थिति में ब्रह्माकुमारीज संस्थान की अतिरिक्त मुख्य प्रशासिका तथा यूरोपियन सेवाकेन्द्रां की निदेशिका बीके जयन्ति, जर्मनी सेवाकेन्द्रों की प्रभारी बीके सुदेश, ब्रह्माकुमारीज लंदन की मीडिया प्रभारी बीके जेमिनी, निदेशक बीके रतन दादा, बीके जसु समेत वरिष्ठ संस्थान के सदस्यों ने केक काटकर सेरिमनी मनायी इस कार्यक्रम में लंदन के अलावा अन्य देशों के लोग भी शरीक हुए।
सन् 1971 में जब पश्चिमी देशों में आध्यात्मिक ज्ञान और राजयोग का विगुल फूकने के लिए जब छोटी सी सुरुआत हुई थी तब किसी ने यह सोचा नहीं था कि यह प्रयास पूरे दुनिया में वट वृक्ष की भांति फैल जायेगा। पचास वर्ष पूर्ण होने पर सुन्दर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें यूरोपियन सेवाकेन्द्रों की निदेशिका बीके जयंन्ति ने कहा कि बाबा का संदेश पूरी दुनिया में फैल रहा है। इसके लिए दादी जानकी जी तथा अन्य भाई बहनों ने जो प्रयास किया वह आज विशाल रुप धारण कर चुका है।
इसके साथ ही अन्य सदस्यों ने अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आज हम पूरे विश्व में बाबा का संदेश देने की ओर आगे बढ़ रहे है।
गौरतलब है कि पूरे पश्चिमी देशों में ईश्वरीय सेवाओं की शुरुआत भी लंदन से ही हुई थी। सबसे पहले इस सेवाओं की शुरुआत करने के लिए माउण्ट आबू से पांच लोगों का एक डेलिंगेशन 1971 में लंदन गया था और वहीं से ईश्वरीय सेवाओं की बीज पड़ी और कारवां बढ़ चला। इसके बाद संस्थान की पूर्व मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी जानकी ने 1974 से पश्चिमी देशों की कमान संभाली।

GWS Peace News

Learn More →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *