Mon. Dec 9th, 2019

Gyansarovar, Mount Abu

माउण्ट आबू में प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्व विद्यालय के ज्ञान सरोवर में ग्राम विकास प्रभाग के राष्ट्रीय सम्मेलन का आरम्भ हुआ, स्वर्णिम भारत का आधार शाश्वत यौगिक खेती विषय पर आयोजित इस त्रिदिवसीय सम्मेलन का शुभारम्भ सोलन शूलिनी विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. पी.के. खोसला, लखनऊ कृषि निदेशालय के सहायक निदेशक बद्री विशाल, ज्ञान सरोवर की निदेशिका बीके डॉ. निर्मला, प्रभाग की अध्यक्षा बीके सरला, उपाध्यक्ष बीके राजू, राष्ट्रीय संयोजिका बीके तृप्ति एवं बीके सुनन्दा तथा मुख्यालय संयोजक बीके सुमन्ता द्वारा दीप जलाकर किया गया।
खेतों में बोए जाने वाले बीजों पर किसान के संकल्पों का भी गहरा प्रभाव पड़ता है, जिस मंशा के साथ किसान खेत में बीज डालता है उसी के अनुरुप फसल की पौष्टिकता के परिणाम प्राप्त होते है.. मन को सात्विक बनाने के लिए अन्न का भी सात्विक होना ज़रुरी है। ऐसे ही कुछ विचार आए हुए मेहमानों ने सम्मेलन के दौरान व्यक्त किए।
सम्मेलन के संस्था एवं प्रभाग के वरिष्ठ सदस्यों ने भी अपने विचार रखते हुए बताया कि स्वस्थ मन व तन के लिए शुद्ध अन्न का होना ज़रुरी है, शुद्ध अन्न से मन का तनाव और अवसाद समाप्त होता है, इसके लिए अपने विचारों का भोजन भी शुद्ध होना चाहिए क्योंकि शुद्ध संकल्पों के वायब्रेशन से ग्रहण किया गया सात्विक भोजन दवाई का कार्य करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *