Sat. Oct 31st, 2020

शिव भोले नाथ के अवतरण का पर्व 84वीं शिवजयंती देशभर में धूमधाम से मनाई गई। परमात्मा शिव के अवतरण के यादगार का ये पर्व.. ब्रह्माकुमारीज संस्थान के लाखों सदस्यों ने अलग ही रुप में मनाया। देश की राजधानी दिल्ली का लाल किला मैदान भी शिवभक्तों से आध्यात्मिकता में डूब गया। संस्थान के अन्तर्राष्ट्रीय मुख्यालय शांतिवन, पाण्डव भवन एवं ज्ञान सरोवर में शिवरात्रि का अलग ही रंग देखने को मिला। शुरु करते है राजधानी दिल्ली से जहां लालकिला मौदान में 84वे शिवजयंती महोत्सव का बड़े पैमाने पर आयोजन हुआ, जहां बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर.. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह एवं भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे.पी. नड्डा पहुंचे।बाईटः राजनाथ सिंह
इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विश्व शांति, वसुधेव कुटुम्बकम एवं विश्व बंधुत्व की भावना, मानवता को भारतीय दर्शन एवं संस्कृति की ही देन है, जो शिव और शिव की शक्तियों से जुड़ने से ही साकार हो सकती है। आगे अपने सम्बोधन में कहा कि शिवरात्रि का पावन पर्व, हमें सच्चाई और अच्छाई को अपनाकर असत्य, बुराई एवं नकारात्मक तत्वों पर जीत पाने की प्रेरणा देती है। परमात्मा शिव से जुड़े इन्हीं भारतीय मूल्यों, आदर्श, आध्यात्मिकता एवं राजयोग मेडिटेशन को विश्व के कोने कोने में सभी जाति, धर्म, वर्ग एवं सम्प्रदाय में फैलाने वाली ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान की उन्होंने सराहना की।
इस अवसर पर संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन, गुरुग्राम के ओम् शान्ति रिट्रीट सेन्टर की निदेशिका बीके आशा एवं वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके शिवानी ने भी महाशिवरात्रि के उपलक्ष्य में अपनी शुभआशाएं व्यक्त की। इस दौरान जी.बी. पन्त हॉस्पिटल्स के कॉर्डियोलाँजिस्ट डॉ. मोहित गुप्ता ने उपस्थित हज़ारों लोगों को बुराई छोड़ने का एवं सर्व के प्रति शुभभावना और शुभकामना रखते हुए सबको सुख देने की प्रतिज्ञा कराई। वहीं समागम को शिव की शक्ति 108 ब्रह्माकुमारी बहनों ने सामूहिक राजयोग का अभ्यास कराते हुए विश्व शांति के लिए शक्तिशाली प्रकम्पन फैलाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *