Wed. Jan 22nd, 2020

बेंगलुरु.. जहां संस्था प्रमुख 104 वर्षीय राजयोगिनी दादी जानकी जी की उपस्थिति में कई कार्यक्रमों का लगातार आयोजन किया जा रहा है। गोट्टीगेरे क्षेत्र में संत सम्मेलन एवं दादी जानकी इंस्टीट्यूट फॉर ह्यूमन एक्सीलेन्स एण्ड रीसर्च का उद्घाटन कार्यक्रम सफलता पूर्वक सम्पन्न हुआ। सांस्कृतिक प्रस्तुतियों से इस महासम्मेलन का रंगारंगा आगाज़ हुआ, वहीं यू.एक्स डिज़ाईनर विनय हेगडे ने कॉस्मिक स्प्लैश का बहुत ही सुन्दर प्रदर्शन देते हुए दादी जानकी का चित्रण सभी के समक्ष प्रस्तुत किया।
बुलेटिन को आगे बढ़ाते हुए दिखाते है वो नज़ारा जहां दादी जानकी जी के मंच पर पहुंचते ही उपस्थित सभी धर्मगुरुओं ने दादी का सहृदय से स्वागत किया, आगे कार्यक्रम का शुभारम्भ दादी जानकी समेत बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर सम्मेलन में पहुंचे योग गुरु बाबा रामदेव, श्री सिद्धगंगा मथ से श्री श्री सिद्धालिंग महास्वामी, श्री अधिचुनचुनुगिरि महासंस्थाना मठ से जगद्गुरु श्री श्री निर्मलानंदानाथा महास्वामी, शखा रम्बापुरी मठ से श्री श्री रेणुका शिवार्चा स्वामीजी, कुंचीतिगा महासंस्था मठ के पीठाध्यक्ष जगद्गुरु डॉ. श्री शांतावीरा महास्वामी, बेंगलुरु विश्वविद्यालय के कुलपति के.आर. वेणुगोपाल, नवगृह पीठाध्यक्षारु आराध्या एवं संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों में मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष बीके करुणा, कार्यकारी सचिव बीके मृत्युंजय, हुबली सबजोन के निदेशक बीके बसवराज, गुलबर्गा के निदेशक बीके प्रेम, मैसूर सबज़ोन प्रभारी बीके लक्ष्मी, वी.वी.पुरम् सबज़ोन प्रभारी बीके अम्बिका, गुलबर्गा सबज़ोन प्रभारी बीके विजया तथा अन्य सबज़ोन की संचालिकाओं ने दीप प्रज्वलित कर किया।
आगे डॉ. जानकी इंस्टीट्यूशन फॉर ह्यूमन एक्सीलेन्स एण्ड रीसर्च, कॉलेज फॉर वैल्यू एजुकेशन का भी सभी मुख्य अतिथियों द्वारा विधिवत उद्घाटन किया गया और दादी जी का सभी धर्मगुरुओं ने सम्मान किया।
इस दौरान दादी जानकी जी ने अपने आशीर्वचनों से लाभान्वित किया और निश्चयबु़द्ध विजयन्ति का मंत्र सभी को दिया। 104 वर्ष की आयु में भी दादी जानकी जी द्वारा दिए गए अनमोल वचनों को सुनने के बाद बाबा रामदेव ने दादी जानकी को न केवल ब्रह्माकुमारीज़ की मुखिया बताया बल्कि पूरे भारत देश की आध्यात्मिक प्रमुख के नाम से उन्हें शुशोभित किया। अपने वक्तव्य को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने अन्य कई महत्वूपर्ण बिन्दुओं पर प्रकाश डाला, वहीं पूरे विश्व को अपना परिवार बताया। वहीं इस मौके पर मौजूद अन्य गुरुओं ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इस मौके पर मौजूद संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने भी अपनी शुभआशाएं व्यक्त की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *