Sun. Oct 25th, 2020

अहमदाबाद में ‘जीवन का आधार गीता का सार‘ विषय पर विशेष पब्लिक कार्यक्रम का आगाज़ हुआ सरदार वल्लभ भाई पटेल ऑडिटोरियम में हुए इस आयोजन में मुख्यालय माउंट आबू से आई वरिष्ठ राजयोग शिक्षा एवं मुख्य वक्ता बीके उषा ने अपने वक्तव्य में भारत के प्राचीन गीता ज्ञान के आधार से संघर्षमय जीवन को परिवर्तन कर सुखमय और शांतिमय जीवन यापन करने की विधि समझाई सुबह के सत्र में मुख्य अतिथि के तौर पर पाटन से प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश बीएस उपाध्याय, अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश एमजे रावल, अहमदाबाद नगर निगम के नगर विकास अधिकारी रमेश देसाई और गुजरात मैरीटाइम बोर्ड के महाप्रबंधक आशीष मिश्रा, लोस एंजेल्स में ब्रह्माकुमारिज की निदेशिका बीके गीता एवं अहमदाबाद में लोटस हाउस सेवाकेंद्र की प्रभारी बीके शारदा द्वारा दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का आगाज हुआ एक और जहां सभी अतिथियों का पुष्प पौधों एवं नृत्य से स्वागत सत्कार किया गया वही दूसरी और बीके उषा ने गीता से जुड़े कई गहन मुद्दो पर चर्चा की हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति जी.आर. उपाध्याय, पूर्व आईएएस ऑफिसर डॉ. संकेरन त्रिपाठी और नरोदा विधायक बलराम थवानी एवं करीबन 1700 की भव्य सभा को संबोधित करते हुए बीके उषा ने शाम के सत्र में सर्व शास्त्र श्रीरोमानी श्रीमद भगवद गीता के कई पहलुओं को आध्यात्मिकता के माध्यम से उजागर कर रोज मर्रा की जिंदगी में उन बातों का प्रयोग करने पर सभी का ध्यान खिंचवाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *