Thu. Oct 22nd, 2020

महिला सशक्तिकरण से सामाजिक बदलाव विषय पर आयोजित राष्ट्रीय महिला कन्वेन्शन का ब्रह्माकुमारीज़ के मुख्यालय शांतिवन में समापन हो गया। इस सम्मेलन में राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्या चन्द्रमुखी ने कहा कि देश व दुनिया में महिलाओं के प्रति हो रही घटनायें चिंतनीय है। सख्त कानून के साथ ही लोगों के मानसिक स्तर को बदलने के लिए सकारात्मक सोच के अभियान चलाए जाने की ज़रुरत है। आगे निर्भया वाहिनी दिल्ली की संस्थापक मानसी प्रधान ने कहा कि दिन प्रतिदिन बढ़ती घटनायें आसुरीयता का ऐसा दृश्य प्रस्तुत कर रही है जिसके बारे में हम सभी को सोचने की आवश्यकता है। संस्कारों का अभाव ही ऐसी स्थितियों को जन्म दे रहा है सख्त कानून बनाए जाए लेकिन इसके साथ ही दूसरे विकल्पों पर भी विचार हो। देश की पहली महिला कमांडो प्रशिक्षक तथा मोटीवेशनल स्पीकर डॉ. सीमा राव, महिला प्रभाग की अध्यक्षा बीके चक्रधारी, राष्ट्रीय संयोजिका बीके शारदा, जयपुर सबज़ोन प्रभारी बीके सुषमा, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अनुपम, संस्था के मीडिया प्रभाग के अध्यक्ष बीके करुणा समेत अन्य मौजूद लोगों ने भी अपने विचार रखे और नारी को शक्ति स्वरुपा बताया। गौरतलब है कि इस सम्मेलन का उद्घाटन.. स्वयं देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने किया था.. जिसमें देशभर से हज़ारों लोगों ने भाग लिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *