Wed. Oct 21st, 2020

Stress-Management Retreat organised for soldiers of CISF

आज हमारे जीवन में इंटरनेट, मोबाइल और सोशल मीडिया का अधिक प्रयोग तनाव का मुख्य कारण बना हुआ है। इनमें सकारात्मक बातें तो होती हैं किंतु नकारात्मक या व्यर्थ विचारों को उत्पन्न करने वाले तथ्यों व समाचारों की अधिकता होती है क्योंकि आज का वातावरण ही नकारात्मक है जिसका सीधा प्रभाव हमारे मन पर पड़ता है और इन बातों में उलझकर हमसे व्यर्थ कर्म होने लगते हैं
यह उक्त बातें छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित एनटीपीसी सीपत में सीआई एसएफ के जवानो के लिए आयोजित स्ट्रेस मैनेजमेन्ट रिट्रीट में सिक्यूरिटी सर्विस विंग के मुख्य वक्ता कमाण्डर बीके शिव सिंह ने कही।
टिकरापारा सेवाकेंद्र प्रभारी बीके मंजू ने इस दौरान तनाव प्रबंधन पर व्याख्यान देते हुए कहा जिस तनाव में हम रहते हैं वह हमारी नकारात्मक विचारशैली के कारण होता है और अैसी परिस्थिति में नकारात्मक को सकारात्मक विचारों में परिवर्तन करने की कला सिर्फ अध्यात्मिक ज्ञान व राजयोग मेडिटेशन से आती हैं साथ ही हैदराबाद से पधारें मनोवैज्ञानिक बीके रामाकृष्णा ने मेडिटेशन के अभ्यास से होने वाले फायदे बताए।
बौद्धिक क्षमता के साथ अध्यात्मिक क्षमता की धनी और नैतिक मूल्यों के जरिये मानवता की सेवा में निरंतर लगी हुई बीके मंजू को छत्तीसगढ़ योग आयोग का सदस्य बनाया गया इस नियुक्ति से बिलासपुर का भी गौरव बढ़ा है मनोनीत होने पर सीजीवाल से बातचीत के दौरान बीके मंजू ने कहा कि उनकी कोशिश होगी कि प्रदेश में योग और अध्यात्मय का डंका बजे और नैतिक मूल्यों को स्कूलों और कालेजों में स्थापित करना मेरा प्रमुख लक्ष्य होगा जिससे भारत का नाम विश्व गुरू के रूप में स्थापित हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *