Thu. Oct 17th, 2019

Shanti Sarovar, Raipur, Chhattisgarh

रायपुर में ब्रह्माकुमारीज़ के शांति सरोवर एवं मुल्यानुगत मीडिया अभिक्रम समिति द्वारा सामाजिक बदलाव में मीडिया की भूमिका विषय पर मीडिया संवाद का आयोजन किया गया। इस राउंड टेबल डिस्कशन में कुशाभाउ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. मानसिंह परमार, माखन लाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रो. कमल दीक्षित, दैनिक भास्कर के संपादक शिव दुबे, वरिष्ठ पत्रकार रमेश नैय्यर, आकाशवाणी के समाचार सम्पादक विकल्प शुक्ला, आई.बी.सी. 24 न्यूज़ चैनल के संपादक रविकान्त मित्तल, प्रेस कौंसिल ऑफ इण्डिया के सदस्य प्रदीप जैन, रायपुर में ब्रह्माकुमारीज़ की क्षेत्रीय निदेशिका बीके कमला, माउण्ट आबू से आई ज्ञानामृत पत्रिका की सह सम्पादिका बीके उर्मिला मुख्य रुप से मौजूद थी।

मीडिया द्वारा प्रसारित बातों का हमारे मन पर गहरा असर होता है, और इसी से व्यक्तित्व का निर्माण सम्भव है व समाज को भी दिशा मिलती है। आज समय की मांग है कि मीडिया ऐसी सामग्री दे जो मानवीय मूल्यों को जागृत करें, तब ही समाज में बदलाव आएगा। इन्हीं कुछ बातों पर चर्चा करने के लिए एकत्रित हुए सभी वरिष्ठ मीडियाकर्मियों ने अपने-अपने विचारों का आदान प्रदान किया और समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में मीडिया की भूमिका को अहम बताते हुए अपना समर्थन भी दिया कि नैतिक मूल्यों की पुर्नस्थापना से ही समाज में बदलाव सम्भव है।

संवाद में अपनी चर्चा को आगे बढ़ाते हुए रविकांत मित्तल ने कहा कि मीडिया का असली मकसद कहीं ना कहीं लुप्त हो गया है, और वर्तमान मीडिया सिर्फ मनोरंजन तथा ग्लैमर तक सीमित रह गई है। मीडिया को अपनी ज़िम्मेदारी समझकर बैलेन्स बनाकर चलें, तभी मीडिया का उद्देश्य पूरा होगा। वहीं बीके उर्मिला ने मूल्यों की धारणा के लिए जीवन में आध्यात्मिक बल का होना ज़रुरी बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *