Sun. Oct 20th, 2019

Odisha

सभी मनुष्य एक ईश्वर की संतान होने के नाते एक परिवार के सदस्य होते हुए भी विचारों में भिन्नता होने के कारण अनेक संपद्राय, समाज और धर्मों में बंट गए हैं। धर्म के मौलिक तत्व शांति, प्रेम, पवित्रता इन सभी से हम वंचित हो गए हैं ये बात ओड़िशा के संबलपुर में माउंट आबू से आए धार्मिक प्रभाग के मुख्यालय संयोजक बीके रामनाथ ने पावन सरोवर में आयोजित एक ईश्वर-एक विश्व परिवार विषय पर आयोजित सर्वधर्म सम्मेलन के दौरान कही। इस मौके पर हिंदू धर्म से स्वामिनी विष्णुप्रिया नंदा, मुस्लिम से मौलाना साहाबुद्देन खान, सिक्ख धर्म से सुरजीत सिंह, क्रिश्यन धर्म से फादर आल्फांस टोप्पो, सेवाकेंद्र प्रभारी बीके पार्वती ने भी खुदा को पाने के लिए पहले अपने आप को जानने की जरूरत बताई।

सभी धर्मों के प्रतिनिधियों को सेवाकेंद्र के द्वारा ईश्वरीय सौगात भी भेंट की गई और माउण्ट आबू आने का निमंत्रण दिया गया।

स्व उन्नति के लिए 4 दिनों के लिए विशेष कार्यक्रम भी सेवाकेंद्र पर आयोजित किया गया। जिसमें विधायक डॉ. राजेश्वरी पानीग्रही, विकास ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट के मैनेजिंग डायरेक्टर जी भास्कर, स्पेशल लैंड एक्विशन ऑफिसर सीतांशू त्रिपाठी, बीके रामनाथ, सेवाकेंद्र प्रभारी बीके पार्वती समेत अनेक वक्ताओं ने मन जीते जगतजीत पर विशेष प्रकाश डालते हुए कहा कि जितना हमारा मन उत्तेजित होता जा रहा है हम खुद से दूर होते जा रहे हैं जिसके लिए राजयोग के अभ्यास द्वारा मन को कंट्रोल कर सकते हैं।

4 दिनों तक सेवाकेंद्र से जुड़े युवा, महिला और वरिष्ठ लोगों के लिए अलग अलग कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें राजयोग की अनुभूति के साथ प्रश्नोत्तर का भी सेशन रखा गया।

इसके अलावा बुर्ला में बसंतपुर के वीएसएसयूटी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट में बीके रामनाथ ने मोटिवेशनल योगा प्रोग्राम के तहत युवाओं को बताया कि मन को कैसे स्थिर और शांत बनाएं तथा एकाग्रता की शक्ति से सफलता हासिल करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *