Sat. Oct 19th, 2019

Madhya Pradesh

तनाव मुक्त जीवन और राजयोग से व्यक्तित्व निर्माण विषय पर मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित वेद्नगर सेवाकेंद्र पर कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसको वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका एवं ज्ञानामृत पत्रिका की संयुक्त संपादिका बीके उर्मिला ने संबोधित किया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन उज्जैन की प्रभारी बीके उषा समेत सिन्हाथ प्राधिकरण अध्यक्ष देवीर नातू महर्षि पानिनी संस्कृत एवं वैदिक विश्वविद्यालय के प्रो. रमेश चंद्र पांडा ने दीप प्रज्वलन कर किया, वहीं आगे क्रोध प्रबंधन, स्वयं की अनुभूति, परमशक्ति की पहचान, राजयोग से अष्ट शक्तियों की प्राप्ति, समय की पहचान जैसे अनेक सत्रों पर बीके उर्मिला ने प्रकाश डाला।

अब खबरें अन्तर्राष्ट्रीय जगत की।
योग जिसे कुछ समय पहले ऋषि-मुनियों की साधना और स्वस्थ जीवन का आधार समझा जाता था, आज की तारीख में सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व की रगों में योग प्रवाहित हो रहा है। देश के साथ विदेश में भी लोगों पर योग-ध्यान का ऐसा जादू चढ़ा है आइए दिखाते है आपको उसकी झलक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *