Wed. Oct 21st, 2020

इंदौर ज़ोन की 20 बेटियों ने बाल ब्रह्मचर्य का संकल्प लेते हुए समाज सेवा में अपना जीवन समर्पित किया। दादी के हाथ में अपनी बेटी का हाथ सौपते हुए इन बेटियों को उनकी अमानत बताया। इस कार्यक्रम में राजयोगिनी दादी जानकी के मंच पर पहुंचते ही दिव्य जीवन कन्या छात्रावास की कुमारियों ने ऐसा प्रदर्शन दिया जो दादी जी खुद भी उन कुमारियों के साथ झुमने लगी। इस अवसर पर ज़ोन की वरिष्ठ बीके बहनों द्वारा दादी जी का श्रृंगार किया गया, वहीं मंच पर उपस्थित वरिष्ठ पदाधिकारियों एवं मुख्यालय माउण्ट आबू से आए सैकड़ों सदस्यों का भी सम्मान हुआ। जिसके पश्चात् दादी जानकी समेत मौजूद संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों में इंदौर ज़ोन की क्षेत्रीय निदेशिका बीके कमला तथा मुख्य क्षेत्रीय समन्वयक बीके हेमलता, दिव्य जीवन कन्या छात्रावास की संचालिका बीके करुणा, ज्ञानामृत पत्रिका के प्रधान सम्पादक बीके आत्म प्रकाश, शांतिवन के प्रबंधक बीके भूपाल, तथा आवास निवास के प्रभारी बीके देव, महिला प्रभाग की मुख्यालय संयोजिका बीके डॉ. सविता, वरिष्ठ राजयोग शिक्षिका बीके रुकमणी, प्रयागराज की क्षेत्रीय संचालिका बीके मनोरमा, नागपुर सबज़ोन प्रभारी बीके रजनी एवं इंदौर ज़ोन की अन्य वरिष्ठ बीके बहनों ने केक कटिंग कर स्वर्ण जयंती मनाई और अपनी शुभकामनाएं देते हुए इंदौर ज़ोन के पूर्व निदेशक बीके ओम प्रकाश को सभी ने याद किया। स्वर्ण जयंती एवं समर्पण समारोह के उपलक्ष्य में शक्ति निकेतन की कुमारियों ने अपनी विशेष प्रस्तुति दी और अपने प्रदर्शन से साक्षात् राजयोग के प्रयोग का प्रत्यक्ष प्रमाण दिया। इन कुमारियों की प्रस्तुतियों में न केवल नैतिक मूल्यों का संदेश था बल्कि बीके ओम प्रकाश के सानिध्य में 50 वर्षों में की गई ईश्वरीय सेवाओं का दृश्य भी देखने को मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *