Wed. Oct 21st, 2020

Indore

इंदौर के कलानी नगर में देवियों की चैतन्य झांकी लगाई गई जिसमें इंदौर विकास प्राधिकरण के पूर्व अध्यक्ष पंडित कृपाशंकर शुक्ला, विश्व ब्राहमण समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. योगेंत महंत, समाज सेवी इती जैन, पार्षद गोपाल मालू, राजेश चौहान, वार्ड नं0 पॉच के अध्यक्ष रवि प्रजापति,समाजसेवी महेश जायसवाल, इंदौर जोन की क्षेत्रीय निदेशिका बीके हेमलता, ट्रांसपोर्ट विंग की जोनल कोआर्डिनेटर बीके अनिता, मेडीकल विंग की जोनल कोआर्डिनेटर बीके उषा एवं सेवाकेंद्र प्रभारी बीके जयंती समेत नगर के प्रतिष्ठित लोग मुख्य रूप से शामिल थी।
इस अवसर पर अतिथियों ने झांकी का अवलोकन किया व ब्रह्माकुमारीज द्वारा समाज में की आध्यात्मिक सेवाओं की प्रशंसा की मौके पर बीके हेमलता ने दैवियों का आध्यात्मिक महत्व बताते हुये कहा कि जिन्हें हम आज लक्ष्मी, दुर्गा व सरस्वती के रूप में पूजा कर रहे हैं वह वर्तमान में शिवशक्ति बन अज्ञान अंधेरे में भटक रही आत्माओं को ज्ञान की रोशनी दे सुखी बनाने का कार्य कर रही हैं जिसका ही यादगार नवरात्रि पर्व है।
ऐसे ही बंगाली समाज द्वारा बंगाली क्लब में दुर्गा पूजा का आयोजन किया गया जिसमें स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बीके जयंती, बीके छाया एवं अन्य बीके बहनों को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था इस अवसर पर बीके जयंती ने नवरात्रि का आध्यात्मिक महत्व बताते हुये कहा कि जब धरती पर आसुरी वृत्तियों का राज्य हो जाता है तब परमात्मा शिव नारी शक्ति को ज्ञान के अस्त्र शस्त्र देकर असुरों पर विजय प्राप्त कराकर पुनः दैवीय सृष्टि की स्थापना कराते हैं, इस मौके पर बंगाली समाज के अध्यक्ष जे.एस. चौधरी ने बीके जयंती एवं बीके छाया को मोमेंटों भेंट कर सम्मानित किया।
इसी क्रम में सेवाकेंद पर नवरात्रि का आध्यात्मिक महत्व विषय पर कार्यक्रम हुआ जिसमें न्यायधीश आर. के. लाहोटी, मुख्य अतिथि के तौर पर उपस्थित थे इस अवसर पर बीके जयंती ने उन्हें ईश्वरीय ज्ञान व राजयोग से अवगत कराया साथ ही राजयोग को दिनचर्या में शामिल करने की आग्रह किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *