Mon. Oct 26th, 2020

Dhamtari, Chhattisgarh

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार केवल बिमारियों का न होना ही सम्पूर्ण स्वास्थ्य नहीं है। उन्हांने सम्पूर्ण स्वास्थ्य की परिभाषा देते हुए कहा कि शारीरिक, मानसिक, सामाजिक और आध्यात्मिक चारों ही बातो में स्वस्थ रहना आवश्यक है। प्रसन्न आत्मा, प्रसन्न ज्ञान इन्द्रिय, प्रसन्न मन ऐसे व्यक्ति को ही स्वस्थ कहा जाएगा.. यह वाक्य कहे मुंबई से आए हेल्थ काउंसलर एवं मुख्य वक्ता बीके डॉ. दिलीप नलगे ने डॉ. दिलीप.. छत्तीसगढ़ के धमतरी स्थित सामुदायिक भवन में ‘कर लों स्वास्थ्य अपनी मुट्ठी में‘ विषय के अंतर्गत पब्लिक प्रोग्राम को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद धमतरी नगर निगम की महापौर अर्चना चौबे ने कहा की संस्थान द्वारा समय प्रति समय स्वास्थ्य, आध्यात्म, शिक्षा, कृषि संबधित अनेक विषयों को लेकर महत्वपूर्ण कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। यहां बताई जाने वाली बातों को केवल सुनना नहीं है बल्कि जीवन में उतारने का लक्ष्य रखना चाहिए और बाहर जाकर दूसरों को भी बताना चाहिए।

कार्यक्रम की अंतिम कड़ी में स्थानीय सेवाकेंद्र प्रभारी बीके सरिता ने उपस्थित अतिथियों को ईश्वरीय सौगात भेट की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *