Thu. Oct 22nd, 2020

Dhamtari

छत्तीसगढ़ के धमतरी सेवाकेंद्र पर जीवन की पुनः खोज विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह ने कहा कि शारिरीक शक्ति से मानसिक शक्ति अधिक श्रेष्ठ होती है। मन की शक्ति एक जिन्न की तरह होती है जिसमे ताकत तो बहुत है लेकिन उसे सकारात्मक मार्गदर्शन या दिशा न दिखाया गया तो वह पतन का कारण बन जाता है और आघ्यात्मिकता मन की शक्ति को सही और सकारात्मक दिशा दिखाता है वहीं छत्तीसगढ़ डिप्लोमा अभियंता संघ के अध्यक्ष एम के शर्मा, जल संसाधन विभाग धमतरी के कार्यपालन अभियंता ए के पलडिया समेत अनेक विशिष्ट लोगों ने अपने विचार जाहिर किए।
इसके साथ ही सेवाकेंद्र प्रभारी बीके सरिता ने कहा आध्यात्मिकता हमें अपने भीतर श्रेष्ठ संस्कारो का निर्माण करना सिखलाती है व राजयोग शिक्षिका बीके प्राजक्ता ने खुशहाल जीवन के लिए स्वयं की खोज करना आवश्यक बताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *