Sat. Oct 24th, 2020

Chhattisgarh

मन की शक्ति से सहज प्राप्त कर सकते है लक्ष्य ये विचार मुख्य वन संरक्षक प्रेम कुमार के है, जिन्होंने छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर स्थित ब्रह्माकुमारीज़ के सेवाकेन्द्र पर बाल व्यक्तित्व विकास शिविरउत्कर्षके समापन एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम में व्यक्त की।

इसके बाद महिला बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी निशा मिश्रा ने भी बच्चों के प्रति अपनी शुभकामनाएं व्यक्त की। इस दौरान सेवाकेन्द प्रभारी बीके विद्या ने आज की शिक्षा प्रणाली में आध्यात्मिक ज्ञान के समावेश पर ज़ोर दिया।

सेवाकेन्द्र पर समर कैम्प के समापन के साथसाथ मातृ दिवस कार्यक्रम भी आयोजित किया गया था, जिसमें भिलाई से आई राजयोग शिक्षिका बीके गीता ने कहा कि संसार में एक मां ही है जिसका प्यार.. निस्वार्थ होता है। इस अवसर पर बच्चों ने प्रस्तुतियों द्वारा माताओं के प्रति अपने उद्गार व्यक्त किए।

शिविर के दौरान कई प्र्रतियोगिताएं आयोजित की गई थी, जिसमें विजेताओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में महापौर डॉ. अजीय तिर्की, बीजेपी के वरिष्ठ नेता अनिल सिंह मेजा तथा बड़ी संख्या में बच्चे उनके अभिभावक मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *