Sun. Jul 12th, 2020

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के नवापारा राजिम सेवाकेन्द्र पर जोधपुर से महामण्डलेश्वर डा. शिव स्वरुपानंद ने शिरकत की। इस अवसर पर आयोजित स्नेह मिलन कार्यक्रम में मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए बताया कि आध्यात्म के पथ पर चलकर ही देह का परिवर्तन, संस्कारों का परिवर्तन तथा विचारों का परिवर्तन होने लगता है।

अपने जीवन के अनुभवों को साझा करते हुए महामण्डलेश्वर डॉ. शिव स्वरुपानंद ने मौजूद लोगों को बताया कि… मुझे जीवन की शांति के लिए हिमालय की यात्रा.. अनेक आश्रम, मठ में जाने का अवसर मिला लेकिन वहां शांति नहीं मिली, लेकिन जब मैंने ब्रह्माकुमारी आश्रम में कदम रखे तो मुझे सच्ची शांति का अनुभव हुआ, यहां आने से पहले लोगों ने मुझे बहुत उल्टा सुल्टा बताया लेकिन मैंने सोचा कि जाकर देखना चाहिए, यहां आकर महसूस हुआ, कि ब्रह्माकुमारीज़ संस्थान में सत्यता का मार्ग बताया जाता है।

कार्यक्रम में सेवाकेन्द्र प्रभारी बीके पुष्पा ने कहा कि संतों के कारण ही भारत अनेक देशों के लिए तीर्थ स्थान बना हुआ है, इस अवसर पर बीके नारायण भी मुख्य रुप से मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *