Sat. Oct 19th, 2019

Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के धमतरी सेवाकेंद्र में प्रकृति, पर्यावरण एवं आपदा प्रबंधन हेतु संगोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसका विषय था ‘मन को स्वच्छ और धरती को हरा भरा करे‘, इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में कृषि विज्ञान केंद्र धमतरी के किट वैज्ञानिक शक्ति वर्मा, महानदी जलाशय परियोजना बाँध मंडल रुद्री के सहायक अभियंता नितिन पाण्डेय, मगरलोड सेवाकेंद्र प्रभारी बीके अखिलेश एवं धमतरी सेवाकेंद्र प्रभारी बीके सरिता मुख्य रूप से मौजूद थी.
इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में आई बीके अखिलेश ने कहा की प्रकृति के बिना मानव जीवन की कल्पना करना संभव नहीं है, इसीलिए सभी शास्त्रों में प्रकृति को देवतुल्य माना गया है. इसी क्रम में शक्ति वर्मा ने कहा की प्रकृति का दिन-रात हास होते जा रहा है जहरीले कीटनाशको एवं खाद से की गई खेती के कारण खेतो की उत्पादन क्षमता घटती जा रही हु
वही सहायक अभियंता नितिन पाण्डेय ने भी अपने विचार रखे साथ ही धमतरी सेवाकेंद्र प्रभारी बीके सरिता ने मनुष्यों के दूषित व्यवहार को लेकर बात की और मेडीटेशन कमेन्ट्री द्वारा प्रकृति को पवित्र वाइब्रेशन देने का अभ्यास भी कराया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *