Sun. Oct 25th, 2020

Chhattisgarh

हालातों के आगे जब साथ ना जुबां होती है…..पहचान लेती है खामोशी में हर दर्द वो सिर्फ मां होती है…….मां ईश्वर के द्वारा हमें दिया गया वरदान है……उसके हम पर इतने अहसान होते हैं कि…..हम अपना जीवन भी देकर चुका नहीं सकते……ये कुछ शिक्षाअें हैं जो बच्चों को छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर सेवाकेंद्र पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान अतिथियों ने दी |
दरअसल सेवाकेंद्र पर बच्चों के लिए बाल व्यक्तित्व विकास शिविर चल रहा है,उसी दौरान मदर्स डे पड़ा……..तो बच्चों को मां की अहमियत से रूबरू कराना जरूरी था……इस दौरान विशेष बात यह देखी गयी कि सभी बच्चों ने अपनी मदर्स के लिए ग्रीटिंग्स एवं गिफ्टस देकर अपने स्नेह का प्रदर्शन किया |
मदर्स डे पर तो हम सब मां का सम्मान व उनके प्रति अपनी भावनाएं व्यक्त तो करते ही हैं……लेकिन अगर ये अदर डेज़ पर करें तो कहना ही क्या……यकिन मानिए मां को अच्छा लगेगा |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *