Tue. Oct 27th, 2020

Bilaspur-Chhattisgarh

आज भले ही सुख देने वाले साधन बढ़ गये हों दूरसंचार के साधनों ने दुनिया को एक मुठ्ठी में समेट लिया हो लेकिन फिर भी अशांति एवं आपसी दूरियां बढ़ती ही जा रही हैं। जिनको समाप्त करने मानसिक शांति के लिये लोग आज भी योग की शरण में जाते हैं और स्वस्थ्य सुखी जीवन बनाने के लिये इसके अभ्यास को आवश्यक मानते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुये छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर राजयोग से स्वस्थ्य सुखी समाज विषय पर कार्यक्रम हुआ। जिसमें ब्रहमाकुमारीज के टिकरापारा सेवाकेंद्र की प्रभारी बीके मंजू ने शारिरिक योगाभ्यास कराया। साथ ही राजयोग का महत्व बताया।

गुरूनानक स्कूल के सभागार में हुए इस योग शिविर में आईएएस और पीएससी के विद्यार्थियों समेत अनेक लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया योग के साथसाथ राजयोग के लाभों से भी परिचित हुये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *