Sun. Jul 12th, 2020

Ambikapur, Chhattisgarh

छत्तीसगढ़, अम्बिकापुर में चोपड़ापारा के नव विश्व भवन सेवाकेन्द्र द्वारा परसडिहा गांव में नई गीता पाठशाला का शुभारम्भ सरगुजा संभाग की प्रभारी बीके विद्या ने रिबन काटकर किया और मौजूद सभी लोगों को भगवान की सेवा में तत्पर रहने की शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर कृषि महाविद्यालय के डीन डॉ. वी.के. सिंह, छ.ग. राज्य विद्युत वितरण कम्पनी मर्यादित के अधीक्षण अभियंता जी.एल. चन्द्रा, एस.डी.ओ. बी.एस. पाठक समेत अन्य बीके सदस्यों की उपस्थिति में शिवध्वजारोहण भी किया गया। जिसके पश्चात् नई गीता पाठशाला में कार्यक्रम में सम्पन्न हुआ।

शुभारम्भ समारोह के उपलक्ष्य में रामायण, महाभारत एवं श्रीमद् भागवत गीता पर आधारित 5 दिवसीय ‘गीता ज्ञान यज्ञ‘ का भी आयोजन हुआ, जिसमें मध्यप्रदेश के सिवनी सेवाकेन्द्र से आई राजयोग शिक्षिका बीके नेहा ने बताया कि गीता ऐसा धर्म शास्त्र है, जिससे हम सिर्फ भाग्यवान नहीं सौभाग्यवान बन जाते है और गीता ही मनुष्य को जीवन जीने की कला सिखाती है।

समारोह में मौजूद अतिथियों ने दीप जलाकर कार्यक्रम का उद्घाटन किया, इस दौरान महाभारत में कृष्ण द्वारा अर्जुन को ज्ञान देते हुए झलकियों को ड्रामा के माध्यम से दर्शाया गया।

अम्बिकापुर के पार्वती इंस्टीट्यूट में राजयोग से सकारात्मक सोच एवं मानसिक एकाग्रता विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई। इस अवसर पर बीके विद्या ने बी.एड. के छात्रों को स्वयं के तथा परमात्मा के सत्य स्वरुप की पहचान कराई।

यह कार्यक्रम भी चोपड़ापारा के नव विश्व भवन के द्वारा आयोजित किया गया था, जिसका सभी मौजूद छात्रों ने लाभ लिया और राजयोग मेडिटेशन का अभ्यास भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *